एसबीके सर्जरी: प्रक्रिया, फायदे और नुकसान – SBK Surgery: Procedure, Disadvantages In Hindi

How to Decide If SBK Eye Surgery Is Right for You

एसबीके सर्जरी क्या है – What Is SBK Surgery In Hindi

What Is SBK Surgery?एसबीके सर्जरी अपवर्तक सर्जरी का एक अन्य प्रकार है, जिसका उपयोग दृष्टि समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है। इस सर्जरी का पूरा नाम सब-बोमन केराटोमाइल्यूसिस है, जिसमें कॉर्निया (आंख की साफ सामने की सतह) को दोबारा आकार देने के लिए लेजर का उपयोग शामिल है।

इस सर्जिकल प्रक्रिया का सबसे ज्यादा उपयोग मायोपिया को ठीक करने के लिए किया जाता है। इस स्थिति में आंख बहुत लंबी होती है या कॉर्निया बहुत घुमावदार होता है। इससे रोशनी रेटिना के बजाय उसके सामने केंद्रित होती है और आपको दूर की वस्तुएं धुंधली दिखाई देती हैं। यह सर्जरी हाल के वर्षों में तेजी से लोकप्रिय हुई है, जिससे कई लोगों के अच्छे नतीजे मिले हैं। अगर आप एसबीके सर्जरी पर विचार कर रहे हैं, तो कोई भी फैसला लेने से पहले फायदे और नुकसान जानना जरूरी है। इस ब्लॉग पोस्ट में हम एसबीके सर्जरी से संबंधित कुछ जरूरी कारकों पर चर्चा करेंगे।

एसबीके सर्जरी से सुरक्षा

यह सर्जरी पूरी तरह सुरक्षित है, लेकिन किसी भी प्रकार की सर्जरी की तरह इसमें हमेशा जोखिम शामिल होते हैं। इसके अलावा बहुत ही दुर्लभ मामलों में लोगों ने रोशनी के आसपास चमकते घेरे या चकाचौंध दिखने की रिपोर्ट दी है। अगर आप एसबीके सर्जरी पर विचार कर रहे हैं, तो जोखिम और फायदे जानने के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करना जरूरी है। वह निर्धारित कर सकते हैं कि सर्जरी के संभावित फायदे जोखिमों से ज्यादा हैं या नहीं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि सभी लोग एसबीके सर्जरी के लिए सही उम्मीदवार नहीं होते हैं। एसबीके सर्जरी सफल होने के लिए आपके पास निम्नलिखित स्थिति होनी चाहिए:

  • स्वस्थ आंखें
  • दूसरी आंख में अच्छी दृष्टि
  • साफ लेंस
  • कोई अन्य स्वास्थ्य स्थिति, जो सर्जरी या उपचार प्रक्रिया में रुकावट नहीं बनेगी।

एसबीके सर्जरी की प्रक्रिया – SBK Surgery Procedure In Hindi

सर्जन लेजर का उपयोग करते हैं और आपके कॉर्निया के अलग-अलग हिस्सों को प्रभावी ढंग से नया आकार दे सकते हैं। एसबीके लेसिक एक अत्याधुनिक दृष्टि प्रक्रिया है, जो आपकी दृष्टि को ठीक करती है। इसके लिए सर्जन मोरिया एसबीके ब्लेड से एक कॉर्नियल फ्लैप बनाते हैं। फिर, वह कॉर्नियल संरचना को बदलने और आपकी दृष्टि में सुधार करने के लिए मल्टी-पॉइंट कार्ल जीस मेल 90 सिस्टम लेजर लागू करते हैं।

यह सर्जिकल प्रक्रिया आपकी दृष्टि में सुधार करने का एक बेहतरीन तरीका है। इसमें लेजर बीम से प्रत्येक स्पंदन के साथ जरूरी आकार प्राप्त होने तक कॉर्नियल ऊतक के छोटे टुकड़े हटा दिए जाते हैं। उसके बाद फ्लैप को उसकी मूल स्थिति में वापस रखा जाता है। सर्जरी में आमतौर पर प्रति आंख लगभग 30 मिनट से एक घंटे तक का समय लगता है और आप नतीजे लगभग तुरंत देख पाते हैं। इसके बाद आपको थोड़ी परेशानी या आंखों में पानी का अनुभव हो सकता है, लेकिन यह एक या दो दिन में कम हो जाता है।

अगर आप एसबीके लेसिक सर्जरी पर विचार कर रहे हैं, तो आज ही अपने नेत्र रोग विशेषज्ञ से संपर्क करें। वह आपके व्यक्तिगत मामले का आंकलन करने और उपचार के सबसे अच्छे तरीके की सलाह देने में सक्षम हैं। एसबीके सर्जरी की कीमत कई कारकों के आधार पर अलग होती है। आमतौर पर यह पारंपरिक लेसिक सर्जरी की तुलना में ज्यादा महंगी है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि एसबीके एक नई और ज्यादा जटिल प्रक्रिया है। ज्यादातर लोगों के अनुसार, एसबीके से मिलने वाले बेहतर दृष्टि संबंधी नतीजों के लिए ज्यादा कीमत इसके लायक है। भारत में एसबीके की कीमत लगभग 30,000 से लेकर 40,000 रुपये है।

एसबीके सर्जरी के फायदे – SBK Surgery Advantages In Hindi

एसबीके सर्जरी के कई फायदे हैं:

बेहतर दृष्टि

How Much Does SBK Eye Surgery Cost?यह सबसे आम कारण है कि लोग एसबीके सर्जरी को चुनते हैं। अगर आप अपनी दृष्टि संबंधी समस्या से परेशान हैं और चश्मा या कॉन्टैक्ट लेंस से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो इस प्रकार की सर्जरी आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकती है।

ज्यादा समय तक चलने वाले नतीजे

लेसिक के अलावा अन्य दृष्टि सुधार विधियों को आमतौर पर कुछ वर्षों में दोहराया जाता है, लेकिन एसबीके सर्जरी इसका स्थायी समाधान है। एक बार जब आपकी सर्जरी हो जाती है, तो आपको अपनी दृष्टि के बिगड़ने या आगे के उपचार की जरूरत के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं हैं।

उच्च सफलता दर

अनुभवी सर्जन द्वारा की जाने वाली एसबीके सर्जरी की सफलता दर बहुत ज्यादा होती है। इसका मतलब है कि आपको अपनी सर्जरी से सफल नतीजे प्राप्त होंगे।

तेज और दर्द रहित

सर्जरी को पूरा होने में सिर्फ 15 मिनट लगते हैं और ज्यादातर लोग इसके दर्दनाक नहीं होने की रिपोर्ट करते हैं। सर्जरी के बाद पहले कुछ दिनों तक आपको कुछ असुविधा और जलन का अनुभव होने की संभावना है। हालांकि, यह आमतौर पर हल्का होता है और दवा के साथ आसानी से प्रबंधित किया जा सकता है।

एसबीके सर्जरी के जोखिम – SBK Surgery Risks In Hindi

किसी भी सर्जरी की तरह एसबीके सर्जरी से जुड़े कुछ जोखिम भी हैं, जिनमें शामिल हैं:

इंफेक्शन

यह एक दुर्लभ जटिलता है, जिसका कारण सर्जरी के बाद आंख संक्रमित होना है। यह एसबीके सर्जरी का एक सामान्य दुष्प्रभाव है और आमतौर पर कुछ हफ्तों के अंदर कम हो जाता है।

सूजन

आंख के आसपास कुछ सूजन सामान्य है, जो आमतौर पर कुछ दिनों में दूर हो जाती है। हालांकि, अगर सूजन गंभीर है या एक हफ्ते से ज्यादा समय तक रहती है, तो यह इंफेक्शन का संकेत हो सकता है। सर्जरी के दौरान या बाद में खून बहने का थोड़ा जोखिम रहता है।

लालपन

सर्जरी के बाद थोड़ा लालपन होना आम है। अगर आंख बेहद लाल है या लालपन एक हफ्ते से ज्यादा समय तक बनी रहती है, तो यह इंफेक्शन का संकेत हो सकता है।

डिस्चार्ज

सर्जरी के तुरंत बाद थोड़ी मात्रा में डिस्चार्ज होना सामान्य है। हालांकि, अगर डिस्चार्ज बहुत ज्यादा या मवाद के साथ है, तो यह इंफेक्शन का संकेत हो सकता है।

आंख में दर्द

सर्जरी के तुरंत बाद दर्द और बेचैनी होना भी सामान्य है। हालांकि, दर्द गंभीर होना या एक हफ्ते से ज्यादा समय तक रहना इंफेक्शन का संकेत हो सकता है।

धुंधली दृष्टि

धुंधली दृष्टि उम्र बढ़ने का एक अन्य आम दुष्प्रभाव है। इससे आपके लिए पढ़ना या गाड़ी चलाना मुश्किल हो सकता है। हालांकि, आंखों की एसबीके सर्जरी आपकी दृष्टि को बेहतर बनाने में मदद करती है।

रेटिना अलग होना

जब रेटिना आंख के पिछले हिस्से से अलग हो जाती है, तो उसे दोबारा जोड़ने के लिए सर्जरी की जरूरत होती है। एसबीके सर्जरी का उपयोग रेटिनल डिटैतमेंट के इलाज में किया जाता है। सर्जरी को आमतौर पर एक अन्य प्रकार की सर्जरी के साथ जोड़ा जाता है। इसे विट्रेक्टॉमी कहा जाता है, जिसमें सर्जन आपकी आंख (विट्रियस) के अंदर भरने वाले जेल जैसे पदार्थ को हटाते हैं। इस संयोजन सर्जरी में अकेले एसबीके या विट्रोक्टॉमी सर्जरी की तुलना में उच्च सफलता दर है।

मोतियाबिंद

मोतियाबिंद उम्र से संबंधित एक सामान्य स्थिति है, जिसके कारण आपकी आंख का लेंस धुंधला हो जाता है। इससे आपको धुंधली दृष्टि, दोहरी दृष्टि और रोशनी के चारों तरफ चकाचौंध जैसी दृष्टि संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में अगर आपको मोतियाबिंद है, तो आंखों की एसबीके सर्जरी आपके लिए बेहतरीन विकल्प हो सकती है।

ग्लूकोमा

ग्लूकोमा आंखों की बीमारियों का एक समूह है, जो आपकी ऑप्टिक तंत्रिका को नुकसान पहुंचाता है। यह तंत्रिका आंखों से छवियों को आपके मस्तिष्क तक पहुंचाती है, जिससे दृष्टि हानि हो सकती है। ग्लूकोमा को दुनिया भर में अंधेपन का एक प्रमुख कारण माना जाता है। आमतौर पर ओपन-एंगल ग्लूकोमा और एंगल-क्लोजर ग्लूकोमा सहित ग्लूकोमा के दो प्रकार हैं। ओपन-एंगल ग्लूकोमा समय के साथ धीरे-धीरे विकसित होता है। जबकि, एंगल-क्लोजर ग्लूकोमा अचानक विकसित हो सकता है।

आमतौर पर ग्लूकोमा का कोई इलाज नहीं है, लेकिन उपचार से दृष्टि हानि को रोकने या धीमा करने में मदद मिल सकती है। इन उपचार विकल्पों में दवाएं, लेजर थेरेपी और सर्जरी शामिल हैं। अगर आप ग्लूकोमा के लिए एसबीके सर्जरी पर विचार कर रहे हैं, तो फैसला लेने में आपकी मदद के लिए आपको सभी जरूरी जानकारी होनी चाहिए। इस प्रकार सबसे अच्छा फैसला लेने के लिए नेत्र रोग विशेषज्ञ से परामर्श करना बेहतर है। साथ ही प्रक्रिया शुरू करने से पहले संभावित जोखिमों और जटिलताओं के बारे में अपने डॉक्टर से बात करना सुनिश्चित करें।

एसबीके सर्जरी के सीमाएं – SBK Surgery Limitations In Hindi

एसबीके सर्जरी की कई सीमाएं हैं, जैसे:

कुछ लोगों के लिए उपयुक्त

एसबीके सर्जरी उन लोगों के लिए सबसे प्रभावी है, जो निकट दृष्टिदोष (मायोपिया) से पीड़ित हैं। इसका मतलब है कि वह पास की वस्तुओं को साफ देख सकते हैं। जबकि, दूर की वस्तुएं उन्हें धुंधली दिखाई देती हैं। अगर आपको दूरदर्शिता (हाइपरोपिया), दृष्टिवैषम्य (एस्टिग्मैटिज्म) या उम्र से संबंधित दृष्टि हानि (प्रेस्बायोपिया) है, तो इस प्रकार की सर्जरी प्रभावी होने की संभावना नहीं है।

शामिल जोखिम

किसी भी सर्जरी की तरह एसबीके सर्जरी से भी कुछ जोखिम जुड़े होते हैं। इनमें इंफेक्शन, खून बहना और दृष्टि हानि शामिल है। हालांकि, गंभीर जटिलताएं दुर्लभ हैं इस और सर्जिकल प्रक्रिया से गुजर चुके ज्यादातर लोगों को कोई गंभीर समस्या नहीं है।

बीमा द्वारा कवर नहीं 

एसबीके सर्जरी को कॉस्मेटिक प्रक्रिया माना जाता है, इसलिए इसे आमतौर पर स्वास्थ्य बीमा द्वारा कवर नहीं किया जाता है। इसका मतलब है कि आपको सर्जरी के लिए खुद भुगतान करना होगा और यह महंगी हो सकती है।

असंतोष की संभावना

एसबीके सर्जरी की प्रक्रिया से गुजर चुके ज्यादातर लोग अपने नतीजों से खुश हैं। हालांकि, इस बात की संभावना हमेशा बनी रहती है कि आप संतुष्ट नहीं होंगे। यह अवास्तविक उम्मीदों, सर्जरी से जटिलताओं या सर्जरी के बाद आपकी दृष्टि को पसंद नहीं करने के कारण हो सकता है। ऐसे में एसबीके सर्जरी पर विचार कर रहे लोगों के लिए कोई भी फैसला लेने से पहले फायदे और नुकसान जानना जरूरी है। अपने सभी विकल्पों पर चर्चा करने और इसमें शामिल जोखिमों को समझने के लिए एक अनुभवी नेत्र रोग विशेषज्ञ से परामर्श करना सुनिश्चित करें।

निष्कर्ष – Conclusion In Hindi

कुल मिलाकर आंखों की एसबीके सर्जरी एक बेहतरीन प्रक्रिया है, लेकिन इसकी कुछ सीमाएं हैं। अगर मरीज की उम्र 18 साल से ज्यादा है, गर्भवती नहीं है, सामान्य स्वास्थ्य अच्छा है, हाल ही में व्यापक आंखों की जांच हुई है और अपवर्तक त्रुटि का निदान किया गया है, जिसे चश्मे या कॉन्टैक्ट लेंस से ठीक नहीं किया जा सकता है, तो आप एसबीके सर्जरी पर विचार कर सकते हैं। हालांकि, कोई भी फैसला लेने से पहले अपने नेत्र रोग विशेषज्ञ के साथ सभी विकल्पों और सवालों पर चर्चा करना जरूरी है। इससे आपको सुनिश्चित करने में मदद मिल सकती है कि एसबीके सर्जरी आपके लिए सही है या नहीं।

अगर आप इससे संबंधित ज्यादा जानकारी या मार्गदर्शन चाहते हैं, तो आज ही आई मंत्रा से संपर्क करना सुनिश्चित करें। यह प्लेटफॉर्म आपकी आंखों के लिए सबसे एडवांस सर्जिकल विकल्प प्रदान करता है, जिसमें पीआरकेफेम्टो लेसिकस्माइल सर्जरीस्टैंडर्ड लेसिक और कॉन्ट्यूरा विजन शामिल हैं। अगर आपके पास लेसिक सर्जरीलेसिक सर्जरी की कीमत और लेसिक सर्जरी की प्रक्रिया को लेकर कोई सवाल हैं, तो हमें +91-9711116605 पर कॉल करें। आप हमें [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं।