आंखों की लेसिक सर्जरी: लेसिक के बाद आईपॉवर पर प्रभाव – Lasik Eye Surgery: Impact On EyePower After Lasik In Hindi

Lasik Eye Surgery: How It Can Help In Correcting Eyepower

लेसिक सर्जरी क्या है – What Is Lasik Surgery In Hindi

What Is Lasik Surgery?आंखों की लेसिक सर्जरी एक प्रकार की अपवर्तक सर्जरी है, जिसका उपयोग दृष्टि समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है। यह उन लोगों के लिए एक लोकप्रिय विकल्प है, जो दृष्टि में सुधार और चश्मे या कॉन्टैक्ट लेंस की जरूरत को खत्म करना चाहते हैं।

यह सर्जरी आपके कॉर्निया यानी आंख की साफ बाहरी परत को नया आकार देकर काम करती है। इससे रोशनी को दोबारा निर्देशित करने में मदद करता है, ताकि रोशनी ठीक से आंख जा सके और रेटिना पर ध्यान केंद्रित कर सके। यह मस्तिष्क को संकेत भेजने के लिए जिम्मेदार है, जो हमें देखने में मदद करता है। लेसिक सर्जरी कई अलग-अलग दृष्टि समस्याओं को ठीक कर सकती है। इनमें निकट दृष्टिदोष, दूरदर्शिता और दृष्टिवैषम्य शामिल हैं। हालांकि, इसका उपयोग प्रेसबायोपिया के इलाज में भी किया जा सकता है। यह एक ऐसी स्थिति है, जिसके कारण आपको करीब से पढ़ने में कठिनाई होती है।

आमतौर पर जल्द होने वाली यह प्रक्रिया दर्द रहित है और ज्यादातर लोग सर्जरी के बाद एक या दो दिनों के अंदर दृष्टि में सुधार की रिपोर्ट करते हैं। लेसिक सर्जरी की कीमत को प्रभावित करने वाले कई अलग-अलग हैं। इनमें दृष्टि समस्या का प्रकार, सर्जरी का स्थान और प्रक्रिया करने वाले सर्जन शामिल हैं। अगर आप आंखों की लेसिक सर्जरी पर विचार कर रहे हैं, तो आपको किसी अनुभवी नेत्र विशेषज्ञ से संपर्क करना चाहिए। इस लोकप्रिय प्रक्रिया को कई लोग हर साल चुनते हैं, लेकिन क्या यह आपके लिए सही विकल्प है? इस ब्लॉग पोस्ट में हम चर्चा करेंगे कि लेसिक कितनी आंखों की पावर को ठीक कर सकती है। साथ ही आप जानेंगे कि कौन से कारक सर्जरी को प्रभावित करते हैं।

लेसिक कितनी आईपावर को ठीक कर सकती है?

लेसिक सर्जरी से सफल नतीजे प्राप्त करने के लिए कुछ मानदंड इस प्रकार हैं:

  • मरीज की उम्र 18 साल से ज्यादा होनी चाहिए।
  • कम से कम दो वर्षों के लिए एक स्थिर अपवर्तक त्रुटि होनी चाहिए।
  • आंखों की कोई अन्य गंभीर समस्या मौजूद नहीं होनी चाहिए।
  • मरीज के पास स्वस्थ कॉर्निया होना चाहिए।

इसके अलावा कॉर्निया की मोटाई एक अन्य कारक है। अगर आपका कॉर्निया बहुत पतला है, तो लेसिक सर्जरी आपके लिए सही विकल्प नहीं है। इसके अलावा आंखों की पावर बहुत ज्यादा होने से जटिलताओं का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में सामान्य निर्धारित आईपावर -12.00 डायोप्टर है, जिसे लेसिक सही कर सकती है। आमतौर पर यह निर्देश अलग-अलग डॉक्टरों में अलग होता है। अगर मरीज का कॉर्निया काफी मोटा है, तो कुछ डॉक्टर -14.00 डाइऑप्टर तक लेसिक सर्जरी से ठीक कर सकते हैं। एक योग्य नेत्र रोग विशेषज्ञ या सर्जन से परामर्श यह निर्धारित करने का सबसे अच्छा तरीका है कि क्या आप लेसिक सर्जरी के लिए एक अच्छे उम्मीदवार हैं। वह व्यापक आंखों की जांच और निर्धारित करने में सक्षम हैं कि कौन सा विकल्प आपके लिए सबसे अच्छा है।

क्या लेसिक आंखों को स्थायी रूप से ठीक करती है?

Does Lasik Permanently Fix Your Eyes?लेसिक सर्जरी एक प्रकार की दृष्टि सुधार प्रक्रिया है, जो आपके कॉर्निया का आकार स्थायी रूप से बदल देती है। लेसिक सर्जरी निकट दृष्टिदोष, दूरदृष्टि दोष और दृष्टिवैषम्य को ठीक कर सकती है, जिसके बाद ज्यादातर लोगों की दृष्टि 20/20 या इससे बेहतर होती है। अध्ययनों से पता चलता है कि लेसिक सर्जरी हर किसी के लिए सही नहीं है।

यह सर्जिकल प्रक्रिया आंखों में रोशनी के जाने का तरीका बदलकर दृष्टि को ठीक करती है। इसके अलावा लेसिक सर्जरी सभी प्रकार की दृष्टि समस्याओं का इलाज नहीं करती है, लेकिन यह आपकी दृष्टि में सुधार करती है। इससे आपको चश्मे या कॉन्टैक्ट लेंस पहनने की जरूरत से छुटकारा मिल सकती है।

अगर आप लेसिक सर्जरी पर विचार कर रहे हैं, तो इस बारे में वास्तविक अपेक्षाएं रखना बहुत जरूरी है कि सर्जरी क्या कर सकती है और क्या नहीं। लेसिक सर्जरी आपकी दृष्टि को सही कर सकती है, जिससे आपको अब चश्मा या कॉन्टैक्ट लेंस पहनने की जरूरत नहीं है। हालांकि, यह जरूरी नहीं है कि लेसिक सर्जरी आपकी सभी प्रकार की दृष्टि समस्याओं का इलाज करेगी। ऐसे में यह देखने के लिए कि आप लेसिक सर्जरी के लिए सही उम्मीदवार हैं या नहीं, पहले किसी अनुभवी नेत्र रोग विशेषज्ञ से सलाह लेना जरूरी है।

लेसिक के बाद कारकों का आईपावर पर प्रभाव

कई बार लेसिक सर्जरी के बाद भी आपकी आंखों की पावर में सुधार नहीं हो पाता है। ऐसे कई कारक हैं, जो आपकी सर्जरी के नतीजों को प्रभावित कर सकते हैं। ऐसे में आपके लिए कुछ बातें याद रखना बहुत जरूरी है, जैसे:

  • आपकी उम्र: आप जितने बड़े होंगे, आपकी आंखों की पावर समय के साथ बदलने की संभावना उतनी ही ज्यादा होगी। इसका मतलब यह है कि भले ही लेसिक आपकी दृष्टि को अभी ठीक कर दे, फिर भी आपको जीवन में बाद में चश्मे या कॉन्टैक्ट लेंस की जरूरत हो सकती है।
  • आपके कॉर्निया की मोटाई: आपका कॉर्निया जितना पतला होगा, उतनी ही ज्यादा संभावना है कि आप लेसिक से दुष्प्रभावों का अनुभव करेंगे। इनमें सूखी आंखें, चकाचौंध और रोशनी के चारों तरफ चमकते घेरे शामिल हैं। यह दुष्प्रभाव आमतौर पर अस्थायी होते हैं और कुछ महीनों में अपने आप दूर हो जाते हैं।
  • आपकी आंखों का स्वास्थ्य: अगर आपको ग्लूकोमा या मोतियाबिंद जैसी कोई अन्य आंख की स्थिति है, तो लेसिक आपके लिए सही विकल्प नहीं है। ऐसे में अपने सभी विकल्पों के बारे में किसी अनुभवी नेत्र रोग विशेषज्ञ से बात करना सुनिश्चित करें।

इस प्रकार लेसिक आपकी दृष्टि को बेहतर बनाने का एक सुरक्षित और प्रभावी तरीका है। हालांकि, यह याद रखना जरूरी है कि कोई भी सर्जरी 100 प्रतिशत सही नहीं होती है। ऐसे में कोई भी फैसला लेने से पहले सभी जोखिमों और फायदों के बारे में अपने डॉक्टर से बात करना जरूरी है।

निष्कर्ष – Conclusion In Hindi

कुल मिलाकर -3.00 डायोप्टर या उससे कम आईपावर को लेसिक सर्जरी से ठीक किया जा सकता है। अगर आपको निकट दृष्टिदोष, दूर दृष्टिदोष या दृष्टिवैषम्य का निदान किया गया है और आपके चश्मे का प्रिस्क्रिप्शन इसके अंदर आता है, तो आप लेसिक सर्जरी के लिए एक अच्छे उम्मीदवार हो सकते हैं। हालांकि, एक योग्य नेत्र रोग विशेषज्ञ या लेसिक सर्जन से परामर्श निर्धारित करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप लेसिक सर्जरी के लिए एक अच्छे उम्मीदवार हैं या नहीं। वह आपकी आंखों की पूरी तरह से जांच और उपचार में सक्षम हैं। उनसे संपर्क करके आप यह जान सकते हैं कि लेसिक की सर्जिकल प्रक्रिया आपके लिए फायदेमंद है या नहीं।

अगर आप इससे संबंधित ज्यादा जानकारी या मार्गदर्शन चाहते हैं, तो आज ही आई मंत्रा से संपर्क करना सुनिश्चित करें। आई मंत्रा आपकी आंखों के लिए सबसे एडवांस सर्जिकल विकल्प प्रदान करता है, जिसमें पीआरकेफेम्टो लेसिकस्माइल सर्जरीस्टैंडर्ड लेसिक और कॉन्ट्यूरा विजन शामिल हैं। अगर आपके पास लेसिक सर्जरीलेसिक सर्जरी की कीमत और लेसिक सर्जरी की प्रक्रिया को लेकर कोई सवाल हैं, तो हमें +91-9711116605 पर कॉल करें। आप हमें [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं।